LATEST:


There was an error in this gadget

Tuesday, May 5, 2009

आइए, नजर डालते हैं दुनिया के पहले अंतर्राष्‍ट्रीय डिजिटल पुस्‍तकालय पर!

हमारी खेती-बाड़ी तो चलती ही रहेगी, लेकिन पुस्‍तकों का साथ भी जरूरी है। तो आइए एक नजर डालें विश्‍व स्‍तर के पहले अंतर्राष्‍ट्रीय डिजिटल पुस्‍तकालय पर। दुनिया भर के इंटरनेट प्रयोक्‍ताओं के लिए इस पुस्‍तकालय का औपचारिक उदघाटन गत माह फ्रांस की राजधानी पेरिस में हुआ। विभिन्‍न देशों की सांस्‍कृतिक विरासत को इंटरनेट पर उपलब्‍ध कराने के अंतर्राष्‍ट्रीय साझे प्रयास का यह अच्‍छा उदाहरण है।

पाठक www.wdl.org पर जाकर दुनिया की तमाम दुर्लभ पुस्तकें पढ़ सकते हैं। यह 19 देशों के पुस्तकालयों के सहयोग से साकार हुआ है।

अमेरिकी कांग्रेस के वाशिंगटन स्थित पुस्तकालय और मिश्र के एलेक्जेण्ड्रिया पुस्तकालय ने मिलकर इसे विकसित किया है, और इसे यूनेस्को के पेरिस कार्यालय से लांच किया गया है।

हालांकि यह ऐसा पहला अंतर्राष्ट्रीय प्रयास नहीं है। इंटरनेट सर्च इंजिन गूगल ने 2004 में ऐसा ही प्रोजेक्ट शुरू किया था। इसके अलावा यूरोपीय संघ ने नवंबर, 2008 में अपना डिजिटल पुस्तकालय शुरू किया था।

यूनेस्को के इस नये पुस्तकालय के जरिये उपयोगकर्ताओं को विश्व की सात भाषाओं में दुर्लभ पुस्तकें, मानचित्र, पाण्डुलिपियां और वीडियो मिल सकते है, और दूसरी भाषाओं में भी जानकारी उपलब्ध है।

यूनेस्को के संचार और सूचना महानिदेशक अब्दुल वहीद खान कहते हैं कि इससे विश्व के देशों के बीच सांस्कृतिक आदान-प्रदान को बढ़ाने में मदद मिलेगी।

(चित्र व जानकारी का स्रोत : वॉयस ऑफ अमेरिका)

13 comments:

  1. बहुत काम का लिंक दिया। धन्यवाद।

    ReplyDelete
  2. इतनी अच्छी जानकारी देबे के लिए आपका आभार.

    ReplyDelete
  3. बहुत बढ़िया जानकारी दी है आपने शुक्रिया

    ReplyDelete
  4. अत्यन्त उपयोगी लिंक । धन्यवाद ।

    ReplyDelete
  5. इस अनोखे डिजिटल पुस्तकालय के बारे में जानकर अच्छा लगा.. आभार

    ReplyDelete
  6. बहुत धन्यवाद इस जानकारी के लिये.

    रामराम.

    ReplyDelete
  7. बहुत महत्वपूर्ण जानकारी -शुक्रिया !

    ReplyDelete
  8. वाह .. जानकारी और लिंक देने का शुक्रिया।

    ReplyDelete
  9. अशोक जी यह बताइए की हिन्दी की पांडुलिपियाँ भी हैं की नहीं यहाँ पर??


    प्राइमरी का मास्टर फतेहपुर

    ReplyDelete
  10. अभी तो नहीं दिखा रहा है ....हिन्दी !!
    चलिए कुछ दिनों में हो ही जायेगा !!

    प्राइमरी का मास्टर फतेहपुर

    ReplyDelete
  11. बढ़िया जानकारी।

    ReplyDelete
  12. आभार आपका,बडे काम की जानकारी दी आपने।

    ReplyDelete
  13. अच्छी जानकारी. काम का लिंक है.

    ReplyDelete

अपना बहुमूल्‍य समय देने के लिए धन्‍यवाद। अपने विचारों से हमें जरूर अवगत कराएं, उनसे हमारी समझ बढ़ती है।

Related Posts with Thumbnails
 
रफ़्तार Visit blogadda.com to discover Indian blogs Hindi Blogs. Com - हिन्दी चिट्ठों की जीवनधारा चिट्ठाजगत www.blogvani.com