LATEST:


There was an error in this gadget

Tuesday, April 28, 2009

आलू-गाजर की कार और 140 मील की रफ्तार... यह तो वाकई स्‍वादिष्‍ट है!

स्‍वाद वाली चीजों से सड़कों पर दौड़नेवाला वाहन तैयार किया जाए, यह सुनने में विचित्र लगता है। शायद इसीलिए आलू-गाजर से रेस कार बनाए जाने की खबर देखकर पहली बात जो मेरे मन में आयी वह यह कि यह कार है या स्‍वादिष्‍ट भोजन। लेकिन बात इतनी ही नहीं है। यह खबर हमें टिकाऊ विकास (sustainable development) के पर्यावरण-अनुकूल उपायों के प्रति आशावान बनाती है।

इंग्‍लैण्‍ड की वारविक युनिवर्सिटी की वर्ल्‍डफर्स्‍ट टीम ने एक ऐसी ही ईको-फ्रेंडली रेस कार तैयार की है, जो चॉकलेट और वेजिटेबल ऑयल से चलेगी। दुनिया की इस पहली वेजिटेबल कार का नाम ईको एफ 3 (ecoF3) रखा गया है। इसका स्टियरिंग व्‍हील गाजर से बना है, जबकि बॉडी आलू की है। सीट सोयाबीन से बनी है। इंजन भी बायोडीजल है। फलों, साग-सब्जियों व पौधों से निकाले गए वेजिटेबल फाइबर को रेजिन के साथ मिलाकर इस कार के अनेक पार्ट-पुर्जे बनाए गए हैं। जबकि चॉकलेट और अन्‍य पौधा आधारित चीजों से निकाले गए तेल को रिफाइन कर ईंधन और लुब्रिकेन्‍ट तैयार किए गए हैं। यह कार 140-45 मील प्रति घंटे की रफ्तार तक चल सकती है।

इस कार को मई में लांच किए जाने की योजना है। वर्ल्‍डफर्स्‍ट टीम चाहती है कि कार दौड़ का आयोजन करनेवाले अपने नियमों में संशोधन करें और अगले सत्र से गैरपरंपरागत नवीकरण योग्‍य ईंधन से चलनेवाली उनकी इस कार को रेस में शामिल कर लें।

वर्तमान में यह फार्मूला 3 कार, रेस के लिए वैध नहीं है क्‍योंकि चॉकलेट आधारित ईंधन उनकी स्‍वीकृत ईंधन सूची में शामिल नहीं है। जबकि वर्ल्‍डफस्‍ट टीम यह साबित करना चाहती है कि ईको-फ्रेंडली कार का मतलब धीमी रफ्तार वाली उबाऊ कार नहीं है। उसके प्रवक्‍ता का कहना है, ‘हमें उम्‍मीद है कि भविष्‍य में फार्मूला वन कारों में नई सामग्री का उपयोग किया जाएगा।‘

17 comments:

  1. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete
  2. अशोक भाई ,
    ये ऊपरवाली टीप्पणी हटा लेँ
    महज विज्ञापन है !
    आपकी पोस्ट और ये कार पसँद आये -
    १० दिन हुए आपके पते पर
    दूसरा खत कुछ बीज के पेकेट के साथ भेजा है मैँने ..
    पता नहीँ आप तक पहुँचा भी है या नहीँ ? :-(
    - लावण्या

    ReplyDelete
  3. आपकी कार पसंद आई।

    ReplyDelete
  4. लावण्‍या दी, धन्‍यवाद।
    टिप्‍पणी कैसे हटायी जाती है, कोई बताए तो आभारी रहूंगा। कभी जरूरत नहीं पड़ी थी, इसलिए जान नहीं पाया।

    ReplyDelete
  5. भाई अनिल पुसदकर जी, कार मेरी नहीं है :)

    ReplyDelete
  6. वाह !यह भी बहुत रोचक खबर है..ऐसी कार आ जायेगी तो यह तुलना होगी कि किसकी कार ज्यादा स्वादिष्ट है?
    चॉकलेट...गाजर....!

    [अशोक जी ,लावण्य दी तो शायद offline हैं.टिपण्णी हटाने के लिए हर टिप्पणी के साइड में एक डिलीट का साइन होता है trash bin की तरह ---उस पर क्लिक करें..टिप्पणी डिलीट हो जायेगी.]

    ReplyDelete
  7. vegetable कार के बारे में जान कर प्रसन्नता हुई. आपका आभार.

    ReplyDelete
  8. वाह जी इंतजार रहेगा इस कार का.

    रामराम.

    टिपणि हटाने का उपाय आपको उपर सु.अल्पनाजी ने बता दिया है.

    ReplyDelete
  9. ये हुई न बात. ! खबर तो कमाल की है पर असर लाये तो कुछ बात है

    ReplyDelete
  10. स्वादिष्ट लगी यह रोचक कार की खबर :)

    ReplyDelete
  11. अरे इन सब से गाडी चलाने लगेंगे तो खाएँगे क्या ? :-)

    ReplyDelete
  12. वेजिटेबल ऑयल से चलने वाले वाहनों के खिलाफ एक पूरी जमात है जिसमें कार निर्माता और तेल माफिया भी शामिल हैं.

    ReplyDelete
  13. ईको फ्रेन्डली कार!! रोचक जानकारी!!

    ReplyDelete
  14. अल्‍पना जी, उपाय बताने के लिए धन्‍यवाद। आपको यह बात याद नहीं होगी लेकिन वर्ड वेरीफिकेशन हटाना भी मैंने आपसे ही सीखा था, यहां देखिए http://khetibaari.blogspot.com/2008/05/blog-post_25.html :)

    ReplyDelete
  15. टिप्पणी हटाने में एक बात और जोड़ दूँ अगर आप चाहते हैं टिप्पणी पब्लिश न हो और डिलीट भी हो जाये ,तो मोडेरेसन पेज में टिप्पणी सेलेक्ट कर के रिजेक्ट कर सकतें हैं ..मोडेरेसन लगा है तब ..
    रोचक जानकारी थी धन्यवाद

    ReplyDelete
  16. शुक्रिया, लवली जी।

    ReplyDelete

अपना बहुमूल्‍य समय देने के लिए धन्‍यवाद। अपने विचारों से हमें जरूर अवगत कराएं, उनसे हमारी समझ बढ़ती है।

Related Posts with Thumbnails
 
रफ़्तार Visit blogadda.com to discover Indian blogs Hindi Blogs. Com - हिन्दी चिट्ठों की जीवनधारा चिट्ठाजगत www.blogvani.com